The Critical Philosophy of Immanuel Kant (कांट का समीक्षावाद)

The aim of critical philosophy is to comprehend the nature and limitation of human cognition.    – Immanuel Kant कांट

Read more

दंडायण ( Truth about Diogenes )

“उस दरिद्र ने बुलाया है मुझे !’ कहने के साथ ठठाकर हंस पड़ा ! पास खड़े तीनों सैनिक उसे आँखें

Read more